Online Wedding Card Maker Online Free

Wedding card introduction: हमारे देश की परम्परा है, कि ज़ब  लड़का -लड़की की शादी की तारीख तय हो जाती है। सब कुछ खर -पक्का हो जाता है। तब शादी के 15-20 दिन पहले से ही शादी की तैयारियां करना शुरू कर दिया जाता है, कि वेडिंग कार्ड कैसा डिज़ाइन करवाया जाये। ये सब की प्लानिंग शादी के कुछ दिन पहले से ही शुरू कर दिया जाता है, कि वेडिंग कार्ड दोनों तरह के अलग -अलग डिज़ाइन के होते है। ये पहले ही पक्का कर लिया जाता है। आप अपने वेडिंग कार्ड के लिए कोई अच्छा -सा फॉन्ट  चुने ताकि आप अपने रिश्तेदारों कार्ड देने जाये तो उनको पसंद आये। किसी शुभ कार्य को करने से पहले भगवान का नाम लेना या नाम लिखवाना जरूरी होता है:-  ॐ श्री गणेशाय नम:।

Online wedding card maker online free
Image: Online wedding card maker online free

Wedding Card

शादी के शुभ अवसर पर शादी के कार्यों की शुरुआत तब होती है। ज़ब शादी की तिथी निकल कर सब कुछ पक्का हो जाता है। तब वेडिंग कार्ड छापवाने के लिए कार्ड के डिज़ाइन पंसद किया जाता है, उसके बाद 1000 की संख्या मे वेडिंग कार्ड छपवाया जाता है। लेकिन वेडिंग कार्ड को छपवाने के बहुत से अलग -अलग स्टाइललेस कार्ड को छपवाने के आईडिया के लिए आप ऑनलाइन मोबाइल,लैपटॉप से आईडिया ले कर एक से एक डिज़ाइनिंग वेडिंग कार्ड की इमेज वहां से देख कर आप वहां से वेडिंग कार्ड को सेलेक्ट कर सकते है।

वेडिंग कार्ड सेलेक्ट करने के बाद वेडिंग कार्ड छपवाया जाता है और सारे रिश्तोदारों, दोस्तों और आस -पास मे रहने वाले पड़सियो को शादी मे सभी को आमंत्रित करने के लिए वेडिंग कार्ड बांटा जाता है, और शादी मे आ कर लड़का -लड़की को आशीर्वाद दीजियेगा ऐसे बोल कर शादी मे आने के लिए सभी को आमंत्रित करते है। एक बार शादी के कार्ड सब को बाँट जाये तो, सारी चिन्ता खत्म हो जाती। शादी होने की देरी रह जाती है और एक टेनशन रहती है कि शादी मे मेहमानों के खाने -पीने मे कोई कमी ना रह जाये।

Wedding card background

भारत में कोई भी शुभ कार्य किया जाता है। तो सबसे पहले गणेश जी का नाम अवश्य  लिया जाता है।ठीक वैसे ही शादी  मे छापे जाने वाले कार्ड में भी सबसे पहले गणेश जी का नाम या गणेश जी का श्लोक लिखा जाता है। उसके बाद फिर शादी मे जो भी परंपरा होती है। उसी के अनुसार शादी के कार्ड मे नाम और तारीख लिखी होती है, जिससे आप उस व्यक्ति को कार्ड देते है। उसे यह जानकारी मिल जाती है, कि कौन- सा कार्यक्रम किस समय और किस तारीख में है। वह उसी के अनुसार शादी मे पहुँचता है।

और इसके बाद दूल्हा- दुल्हन का नाम उनके दादा -दादी का नाम और माता -पिता का नाम भी लिखा जाता है। इसके बाद में जिस पक्ष का कार्ड होता है। चाहे वधू पक्ष का हो या वर पक्ष का हो। उसके परिवार के बड़े सदस्यों का नाम पहले कार्ड में छापा होता है,और अंत में कार्ड पर उस परिवार के जो सबसे छोटे सदस्य होते हैं। उनका नाम लिखा जाता है,और किसी भी शादी के कार्ड मे आखिरी मे छोटे नटखट बच्चो के लिये कुछ शब्द जरूर लिखवाया जाता है कि हमारे मामा जी के शादी है या फूफा जी के शादी में जरूर से जरूर आना।

Create indian wedding invitation card online free

बदलते समय के साथ -साथ वेडिंग कार्ड छपने और इनविटेशन  कार्ड देने में भी बदलाव आया है। एक समय था जब वेडिंग कार्ड किसी व्यक्ति को खुद देने जाना पड़ता था, चाहे वह व्यक्ति कितना ही दूर क्यों ना रहता हो या उसको कार्ड देने जाने के लिये कितना भी समय लगे  लेकिन जाना जरूरी होता था। आज के समय में हम किसी भी फोटोग्राफर से या वीडियो ग्राफर से डिजिटल वेटिंग कार्ड बनवा सकते हैं या फिर वेडिंग इन्विटेशन का एक वीडियो बनता है उसे बनवा सकते है, जिसे वेडिंग इन्विटेशन वीडियो कहा जाता है। इसे बनवाकर हम दूर रह रहे रिश्तेदारों या दोस्तों को ऑनलाइन प्लेटफॉर्म जैसे व्हाट्सएप, फेसबुक या ईमेल के द्वारा उन्हें भेज कर शादी मे इनवाइट कर सकते है।

आनलाइन की मदद से बहुत समय बचता है, क्योंकि एक सेकंड में पलक झपकते ही एक व्यक्ति को ऑनलाइन के माध्यम से वेडिंग कार्ड पहुंचाया जा सकता है और शादी वाले घर में समय की बहुत ही ज्यादा अहमियत होती है और ऑनलाइन वेडिंग इन्वेटेशन की सहायता से हमारा समय भी बचता है। क्योंकि एक समय था जब वेडिंग कार्ड बांटने में ही कम से कम एक महीने का समय लग जाता था। लेकिन अब ऑनलाइन की मदद से वेडिंग इनविटेशन कार्ड  कुछ ही दिनों मे सब को भेजा जा सकता है।

Wedding card matter

हिंदू रीति-रिवाजों के अनुसार दुकानदार वेडिंग कार्ड छपता है। तो उसमें सबसे पहले गणेश जी का नाम लिखा होता है। या गणेश मंत्र लिखा जाता है। जैसे वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभा निर्विघ्नम कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा इसके बाद दूल्हा -दुल्हन का नाम लिखा जाता है। इसके बाद जिसे आमंत्रण दिया जाता है,उसके लिए कॉलम खाली छोड़ दिया जाता है। यहां जिसे आमंत्रण पत्र भेजना होता है तो उसका नाम  आमंत्रण पत्र मे लिख कर दिया जाता है।

इसके बाद में वेडिंग कार्ड में शादी में नहीं की जाने वाली रस्में जैसे गणेश पूजन अलमट्टी मंडप,सगाई और अंत में प्रशिक्षण और शादी इन सब की तारीख और समय लिखा जाता है। जिस जगह पर शादी  के बाद का रिसेप्शन होता हैं।उस स्थान का नाम और पता क्या है। ताकि जिन लोगो को शादी मे बुलाना भूल गये जाते है। उनको अलग से रिसेप्शन पार्टी मे बुलाया जाता है।

Online wedding card maker

भारत में वेडिंग से जुड़ा कारोबार हजारों करोड़ का होता है। वेडिंग में लोग बहुत ज्यादा खर्चा करते हैं या ऐसा कहे कि जिंदगी भर की कमाई शादी में खर्च कर देते हैं और यह कारोबार दिन -प्रतिदिन फल -फूल रहा है। क्योंकि भारत में शादियां बंद होने वाली नहीं है और लोगों ने शादी के द्वारा कमाई के नए -नए तरीके ढूंढ लिए हैं और इससे लोगों को फायदा भी बहुत हुआ है, वेडिंग कार्ड पहले सिर्फ पेपर में प्रिंट किए जाते थे। अब मोबाइल फोन द्वारा वेडिंग कार्ड आप किसी रिश्तेदार या दोस्त को भेज सकते हैं चाहे वह आपसे कितना ही दूर क्यों ना रहता हो। ऑनलाइन वेडिंग कार्ड आप किसी भी फोटोग्राफर वीडियो ग्राफर से बनवा  सकते है।

यह प्रिंटिंग वेडिंग कार्ड से अलग होता है। लेकिन इसमें सारा मटेरियल वही होता है जो प्रिंटिंग वेडिंग कार्ड में होता है। ऑनलाइन वेडिंग कार्ड या तो शॉट वीडियो होता है। जिसमें शादी की सारी जानकारियां लिखी हुई होती हैं और इसे मोबाइल पर या कंप्यूटर पर प्ले किया जाता है और ऑनलाइन वेडिंग कार्ड में लिखी गई सारी जानकारियां देखी जा सकती हैं। जिसमें वेडिंग फंक्शन से जुड़े दिन और तारीख बताए जाते हैं। वेडिंग कार्ड वीडियो एडिटर अपने स्टूडियो में विशेष सॉफ्टवेयर से जिससे वह वीडियो एडिटिंग करता है। ऑनलाइन वेडिंग इनविटेशन कार्ड बनाता है। जो कुछ सेकंड हो या कुछ मिनटों मे बन कर तैयार हो जाता है।

Wedding card printing near me

वेडिंग से जुड़े कारोबार आज के समय में सभी लोग बहुत ज्यादा मुनाफा कमा रहे हैं। और ऐसा इसलिए होता है,क्योंकि शादियां आज के समय में जो माध्यमवर्ग के लोग होते है,वह भी बड़ी धूमधाम शादी करते हैऔर अच्छा खासा पैसा खर्चा करते है।हाई क्लास लोग तो खर्चा करते ही हैं, उनके वेडिंग की शुरुआत होती है।

वेडिंग कार्ड छपने पर वेडिंग की शुरुआत होती है, उसमें क्या लिखना है और कैसे लिखना है वेडिंग कार्ड में जो लिखना है वह सब तय होने के बाद अब आप अपने घर के पास या फिर मार्केट में मौजूद किसी भी प्रिंटिंग प्रेस में जाकर अपने मनपसंद या फिर अपने बजट के अनुसार वेडिंग कार्ड डिजाइन सेलेक्ट करके उसे प्रिंट करवा जा सकता हैं। आपको कितने वेडिंग कार्ड प्रिंट करवाने हैं,और आप अपने मनपसंद से डिजाइन आकार और पेपर को चुन कर वेडिंग कार्ड छापा सकते है। और अपने कितने मेहमान, दोस्त, पडोसी है उसी के संख्या के आधार पर कार्ड छापवा सकते है। कुछ ज्यादा कार्ड भी छापवा सकते है,ताकि किसी भी रिश्तेदार को कार्ड बाँटने मे कार्ड कम ना पड़े।

निष्कर्ष

आज के आर्टिकल में हमने Wedding card background, Create indian wedding invitation card online free, Wedding card, Wedding card printing near me, Online wedding card maker, Wedding card matter इत्यादी के बारे में जानकारी आप तक पहुचाई है। यदि आपको यह जानकारी पसंद आई है। तो अपने दोस्तों को जरुर शेयर करे यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से जुड़ा कोई सवाल है। तो वह हमें कमेंट में बता सकता है।

यह भी पढ़े: प्रधान मंत्री पर निबंध | Essay On Prime Minister In Hindi

Leave a Comment