क्रिकेट पर निबंध | Essay On Cricket In Hindi

Essay On Cricket In Hindi: खेल की दुनिया में क्रिकेट का नाम सबसे पहले लिया जाता है। क्रिकेट बहुत ही लोकप्रिय गेम है। जिसे विश्व भर में खेला जाता है। आज का आर्टिकल जिसमें हम क्रिकेट पर निबंध (Essay On Cricket In Hindi) के बारे में जानकारी आप तक पहुंचाने वाले है।

क्रिकेट पर निबंध | Essay On Cricket In Hindi

Essay On Cricket In Hindi
Image: Essay On Cricket In Hindi

क्रिकेट पर निबंध (250 Word)

प्रस्तावना

Cricket भारत में एक बहुत ही रोमांचक खेल है और यह पूरी दुनिया के कई देशों में खेला जाता है। यह संयुक्त राज्य अमेरिका में बहुत लोकप्रिय नहीं है, हालांकि यह भारत, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया जैसे कई देशों में दिलचस्प देशों में खेला जाता है। खुले मैदान में बल्ले और गेंद की मदद से खेला जाने वाला यह शानदार खेल है। यह मेरा पसंदीदा खेल है। जब भी कोई राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट प्रतियोगिता होती है, तो आमतौर पर मेरे टीवी पर क्रिकेट देखने की आदत होती है। इस खेल में दो टीमें होती हैं और हर टीम में 11-11 खिलाड़ी होते हैं। टॉस के अनुसार कोई भी टीम पहले बल्लेबाजी या गेंदबाजी करती है।

क्रिकेट के नियम

क्रिकेट के खेल में बहुत सारे नियम होते हैं, बिना यह जाने कि कोई भी इसे ठीक से नहीं खेल सकता है। यह ठीक से तभी खेला जा सकता है जब मैदान सूखा हो जबकि मैदान गीला होने पर कुछ समस्या हो। बल्लेबाज आउट होने तक खेलता है। जब भी मैच शुरू होता है तो हर एक का उत्साह बढ़ जाता है और लोगों की तेज आवाज पूरे स्टेडियम में फैल जाती है, खासकर जब उनका कोई खास खिलाड़ी छक्का लगाता है या छक्का मारता है।

सचिन मेरे पसंदीदा खिलाड़ी हैं और लगभग सभी होंगे। उन्होंने भारत के क्रिकेट इतिहास में एक नया रिकॉर्ड बनाया। मैं उस दिन अपना खाना पूरी तरह से भूल जाता हूं जब वे किसी राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय मैच में खेल रहे होते हैं।

निष्कर्ष

यदि प्रतिदिन अभ्यास किया जाए तो क्रिकेट एक आसान खेल है। मुझे भी क्रिकेट से बहुत लगाव है और मैं हर शाम अपने घर के पास के मैदान में खेलता हूं। मेरे माता-पिता बहुत सपोर्टिव हैं और हमेशा मुझे क्रिकेट खेलने के लिए प्रेरित करते हैं।

क्रिकेट पर निबंध (800 word)

प्रस्तावना

खेल हमारे जीवन का अभिन्न हिस्सा हैं। निरंतर खेल खेलने से हमारे शरीर तंदुरुस्त रहता हैं। इससे हमारे शरीर में चुस्ती और फुर्ती बनी रहती हैं। बच्चों का खेल खेलने के कारण शारीरिक व मानसिक विकास होता हैं। हम हमारे जीवन में कई प्रकार के खेल खेलते हैं। खेल हमारे अंदर स्वास्थ्य प्रतियोगिता की भावना उत्पन्न करता हैं। खेल खेलने से हमारा मनोरंजन भी होता हैं। हम नित्य कई प्रकार के खेल खेला करते हैं। जैसे कबड्डी, खो खो, पकड़म पकड़ाई, लुक्का -छुपी ,लंगड़ी टांग ,क्रिकेट ,फुटबॉल इत्यादि।

क्रिकेट खेल का परिचय

क्रिकेट का खेल बहुत ही रोमांचक और उत्साहवर्धक होता हैं। हमारे यहां हर किसी को क्रिकेट बहुत ज्यादा पसंद हैं। हर व्यक्ति क्रिकेट देखना व खेलना पसंद करता हैं। इस खेल में 2 टीमें होती हैं। प्रत्येक टीम में 11- 11 खिलाड़ी होते हैं और कुछ अन्य खिलाड़ी भी रखे जाते हैं जो कि मुख्य खिलाड़ियों के चोटिल हो जाने पर या खेलने में असमर्थ होने पर उनकी जगह खेलते हैं। क्रिकेट बड़े तथा खुले मैदान में खेला जाता हैं यह मैदान 130 से 150 मी.का होता हैं।

मैदान में क्रिकेट खेलने के लिए एक पिच होती हैं जो की 22 गज की होती हैं। क्रिकेट खेल प्रारंभ होने से पूर्व दोनों टीमों के बीच में टॉस किया जाता हैं जो टीम टॉस जीत जाती हैं वह यह तय करती है कि उसे पहले बल्लेबाजी करनी हैं या गेंदबाजी।

क्रिकेट गेम की शुरुआत कैसे होती है?

सबसे पहले क्रिकेट गेम को शुरू करने के लिए तो उसको फेंका जाता है। दो टीमों का चयन होने के बाद यह निर्धारित किया जाता है। कि कौन सी टीम पहले बैटिंग करेगी और कौन सी टीम पहले गेंदबाजी करेगी। इसके पश्चात ही मैच प्रारंभ होता हैं। बल्लेबाजी करने वाली टीम के 2 सदस्य पिच के दोनों ओर खड़े रहकर बल्लेबाजी करते हैं और गेंदबाजी करने वाली टीम का एक सदस्य गेंद करवाता हैं और अन्य सभी क्षेत्ररक्षण का कार्य करते हैं।

खेल में तीन निर्णायक होते हैं जिनको एंपायर कहा जाता हैं। जिनमें से दो निर्णायक पिच पर उपस्थित होते हैं वहीं तीसरा एंपायर टी.वी को कहा जाता हैं जिस पर विशेष परिस्थिति में निर्णय लेने के लिए वीडियो देखा जाता हैं। बल्लेबाज बेट से गेंद को मार कर रन लेने के लिए भागता हैं तथा चौके छक्के भी मारता हैं ।यही क्रम बारी -बारी दोनों ही टीमें दोहराती हैं। एक टीम तब तक खेलती है जब तक कि उसके सारे ओवर खत्म ना हो जाए या फिर उसके सारे बल्लेबाज आउट ना हो जाए। जो भी टीम ज्यादा रन बनाती है वह विजेता घोषित कर दी जाती हैं।

क्रिकेट के प्रकार

Cricket खेल के कई प्रकार होते हैं। यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी बहुत ज्यादा लोकप्रिय खेल हैं। टेस्ट मैच एकदिवसीय मैच तो होते ही हैं। कुछ वर्षों पहले टी 20 प्रारंभ कर दिए। इसके साथ ही हमारे देश के विभिन्न प्रकार की ट्रॉफी के लिए भी क्रिकेट का आयोजन किया जाता हैं। भारत मे रणजी ट्रॉफी , रानी झांसी ट्रॉफी, दिलीप ट्रॉफी, ईरान ट्रॉफी, शीश महल ट्रॉफी, अब्दुल्लाह ट्रॉफी इत्यादि ट्रॉफी के लिए कई प्रकार की मैच कराई जाती हैं।

क्रिकेट खेल का इतिहास

केंद्रीय खेल की शुरुआत है ग्रेट ब्रिटेन से हुई। सबसे पहला क्रिकेट मैच 18 जून 1744 मैं कैंट व लंदन के बीच खेला गया। ब्रिटिश साम्राज्य के विस्तार के साथ ही खेल अन्य देशों में भी खेले जाने लगा। 19वीं शताब्दी में पहला मैच आईसीसी क्रिकेट क्लब द्वारा 10- 10 सदस्य की दो टीमों के बीच कराया गया। भारत की पहली क्रिकेट संस्था का नाम कोलकाता क्रिकेट क्लब था। सन 1797 इस खेल को मुंबई में खेला जाने लगा और सन 1878 एक प्रोफेसर ने भारतीय क्रिकेट क्लब की स्थापना प्रेसिडेंसी कॉलेज क्रिकेट क्लब के नाम से की थी। भारत देश में 1983 और सन 2011 में वर्ल्ड कप में जीत हासिल की थी।

क्रिकेट कौन से देश का राष्ट्रीय खेल है?

भारत में क्रिकेट अक्सर लोकप्रियता के साथ खेला जाता है। लेकिन भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी है भारत में क्रिकेट को जितनी लोकप्रियता के साथ खेला जाता है। उस हिसाब से कई लोगों को लगता है, कि भारत का राष्ट्रीय खेल क्रिकेट ही होगा। लेकिन ऐसा नहीं है। क्रिकेट जो कि इंग्लैंड का राष्ट्रीय खेल है।

निष्कर्ष

क्रिकेट का खेल बहुत ही सुंदर और लोकप्रिय लोकप्रिय खेल हैं। जिसे लोग देखना और खेलना दोनों भी पसंद करते हैं। क्रिकेट का खेल आम लोगों द्वारा भी गलियों ,सड़कों, मैदानों में खेला जाता हैं। क्रिकेट की शुरुआत मे यह कुछ चुनिंदा देशों में खेला जाता था परंतु अब यह पूरे विश्व में खेला जाता हैं।

अंतिम शब्द

क्रिकेट का महत्व हर देश में काफी अधिक है। भारत में भी क्रिकेट का महत्व बहुत ज्यादा है। क्रिकेट गेम की शुरुआत इंग्लैंड से हुई और वर्तमान में हर देश में क्रिकेट गेम का प्रयोग होता है। ज्यादातर लोगों के लिए क्रिकेट गेम उनकी पहली पसंद बन चुका है। आज का हमारा आर्टिकल जिसमें हमने क्रिकेट पर निबंध (Essay On Cricket In Hindi) के बारे में जानकारी आप तक पहुंचाई है। हमें उम्मीद है, कि हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि किसी व्यक्ति को इस आर्टिकल से जुड़ा कोई सवाल है,तो वह हमें कमेंट में बता सकता है।

Read Also: शिक्षा का महत्व पर निबंध | Shiksha Ka Mahtav Par Nibandh

Leave a Comment